देश की आशा हिंदी भाषा

समर्थक

शनिवार, 24 सितंबर 2011

यकीन मानिए...पुलिस का इतना क्रूर चेहरा नहीं देखा होगा आपने!

मानसिक रूप से विक्षिप्त एक व्यक्ति को पुलिस ने बीच बाजार जानवरों की तरह पीटा। रस्सी से बांधने के बाद पुलिस ने लाठियों से पीट-पीट कर उसका सिर फोड़ दिया।
 
सिटी कोतवाली के चर्चित टीआई बलवीर सिंह जग्गी और उनके मातहत सिपाहियों ने यह वहशियाना कृत्य गुरूवार को दिन में तीन बजे शहर के व्यस्ततम क्षेत्र चौक फूलचन्द्र चौक में किया। पुलिस महानिरीक्षक गाजीराम मीणा ने घटना के तुरंत बाद टीआई बलवीर सिंह जग्गी को निलंबित कर दिया है। यहां रहने वाले रामकृष्ण अग्रवाल 40 वर्ष की मानसिक हालत ठीक नहीं है। वह अजीब किस्म की हरकते करता हैं। तमाशबीन लोग उसे चिढ़ाकर मजा लेते हैं।
 
गुरूवार को दोपहर भी लोगों ने ऐसा ही किया तो वह आक्रामक हो उठा और लाठी लेकर अपने को चिढ़ाने वाले लोगों को दौड़ा। सूचना मिलने पर सिटी कोतवाली के टीआई बलवीर सिंह जग्गी अपनी टीम लेकर मौके पर पहुंचे और रामकृष्ण को पकड़कर उसपर लाठियां बरसानी शुरू कर दी। उसके लहूलुहान होने के बाद भी टीआई का गुस्सा शांत नहीं हुआ। उसे जानवरों की तरह रस्सी में बांधकर पुलिस थाने ले गई।

आपकी राय
 
जिस वर्दी पर आम जन की सुरक्षा की जिम्मेदारी रहती है, अगर वहीं दरिंदा बन जाए तो क्या होगा? पुलिस की इस क्रूरता पर आप क्या कहना चाहेंगे? यहां पर क्या पुलिस के साथ वहां पर खड़ी जनता भी उतनी ही दोषी है? नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में मर्यादित भाषा में अपनी राय देकर दुनिया भर के पाठकों संग शेयर कीजिए...
 

2 टिप्‍पणियां:

RAMAN RISHI ने कहा…

A Lovable Story
A Flight Was Flying Through The Clouds.
Suddenly, It Lost The Balance.
... Everyone Started Shouting In Fear.
But A Small Girl Kept Playing With Her Toy..
After An Hour,The Flight Was Landed Safely
A Man Asked The Small Girl.
"How Could You Play With Your Toy When Everyone Was Afraid?
"The Small Girl Smiled And Said
"My Dad Is The Pilot. I Knew He Will Land Me Safely!
LOVE IS TRUST

बेनामी ने कहा…

Police kamtlab hai RAKSHAS.....aur yr baat aaj 95% police waalon par laagu hoti hai......