देश की आशा हिंदी भाषा

समर्थक

बुधवार, 17 अगस्त 2011

हमारे तीर्थस्थलों के खिलाफ चीन की घिनौनी चाल

भारत और चीन की प्रतिस्पर्धा किसी से छुपी नहीं हैं। चीन हर मोर्चे पर भारत को नीचा दिखाने की कोई ना कोई चाल चलता ही रहा है। लेकिन इस बार चीनी मीडिया ने अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत को बदनाम करने के लिए अब तक की सबसे घिनौनी चाल चली है।
जी हां चीनी मीडिया ने इस बार भारत के धर्मस्थलों पर निशाना साधते हुए बताया है कि किस तरह भारत दुनिया का सबसे गंदा देश है और यहां के धर्म स्थल एक तरह से कूड़े के ढेर पर बैठे हैं। चीन की एक वेबसाइट "चाइनास्मैक" ने भारत के प्रसिद्ध धर्म स्थलों को गलत ढंग से दिखा हमारे देश को नीचा दिखाने की कोशिश की है।
वेबसाइट में चीन के उन लोगों का हवाला दिया गया है जिन्होंने हाल ही में भारत की यात्रा की थी। इन लोगों के मार्फ़त चीनी वेबसाइट "चाइनास्मैक" लिखता है कि भारत दुनिया का सबसे गंदा देश है।

तस्वीरों में देखें इस चीन वेबसाइट की भारत विरोधी करतूत....

विश्व की महशक्ति के रूप में उभरते भारत के खिलाफ चीन की ऐसी चाल पर अपनी प्रतिक्रिया दें और अपने विचारों से पूरी दुनिया को बताएं अपने दिल की बात...
 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

5 टिप्‍पणियां:

देवेश प्रताप ने कहा…

चिंताजनक .....इस तस्वीर के द्वारा आपने लोगों को जागरूक करने की कोशिश की ....बहुत खूब

abhishek ने कहा…

china jo kar rha hai wo to galat hai lekin itni gandgi bhi to nahi honi chahiye.ye kaun sa tarika is tarah shavo ko yahan pade rehne dene ka. hum china ko mauka de rahe hai isliye wo duniya ko dikha raha hai.

meena ने कहा…

bahut achchi jaankari di hai aap ne !!

diesel Filling ने कहा…

bahut achchi jaankari di hai !!

Balraj Sharma ने कहा…

Kisi ko kutch kahane se pahle apne ghar ki safai karna jaroori hai.