देश की आशा हिंदी भाषा

समर्थक

मंगलवार, 29 नवंबर 2011

फेसबुक एक्टिविटी बनेगी मुसीबत की जड़!

बचकर रहे फेसबुक की दोस्ती से...
इन दिनों फेसबुक पर दोस्ती हर आयु वर्ग के यूजर की पहली पसंद बनती जा रही है। फ्रेंडलिस्ट में दोस्तों की संख्या बढ़ाने के चक्कर में लोग बिना सोचे-समझे फ्रेंडशिप रिक्वेस्ट से लेकर हर लिंक को क्लिक कर देते हैं। कई बार बिना सोचे-समझे शुरू हुई ऑनलाइन दोस्ती ही लोगों के लिए परेशानी का सबब बन जाती है।

किसी भी वेबसाइट पर एक क्लिक करने से पहले थोड़ा संभलना अब बहुत जरूरी हो गया है। कुछ दिनों पहले बेंगलुरू के करीब 2 लाख फेसबुक यूजर्स को एक क्लिक का खामियाजा कुछ ज्यादा ही भुगतना पड़ा है। सोशल नेटवर्किंग साइट पर किसी संदिग्ध लिंक को कई यूजर ने ब्राउजर पर जाकर पेस्ट कर दिया। इसके बाद उनके परिवार के सदस्यों व दोस्तों को फेसबुक पर अश्लील लिंक व तस्वीरें भेजी गईं। फेसबुक पर करीब ऐसी 50 पोस्ट के जरिए यूजर को यह लिंक पहुंचाई गई थी। अपने दोस्तों की लिस्ट व हर पोस्ट पर क्लिक करने चाह यूजर को मुसीबतों की राह पर ले जाने का जरिया बन गई।


निजी जानकारी का गलत उपयोग : फेसबुक पर कई ऐसे ठग मौजूद हैं, जो यूजर की निजी जानकारी चुराकर उसका गलत उपयोग करना चाहते हैं। ये फर्जी प्रोफाइल बनाकर आप तक दोस्ती का हाथ बढ़ाते हैं। ऐसे लोगों से बचने के लिए चौकस रहने की जरूरत है। ऐसे ठग आपके दोस्तों के प्रोफाइल में जाकर उनकी फोटो चुराकर और बाकी डिटेल कॉपी कर उनके नाम से प्रोफाइल बनाकर इनवॉइट भेज सकते हैं। ऐसे में किसी दोस्त के प्रोफाइल पर थोड़ा भी शक है तो क्रॉस चेक कर लें। फेसबुक पर मौजूद हर प्रोफाइल का गूगल सर्च किया जा सकता है।

छोटे बच्चे भी पीछे नहीं : युवा के साथ बड़ी संख्या में छोटे बच्चे भी इन दिनों अनजान शख्स को अपना दोस्त बना रहे हैं। इस दौरान लोग अपनी तस्वीरों से लेकर कई निजी बातें तक शेयर करते हैं। किसी भी तरह के वायरस या हैकर्स के हमले के बाद यह निजी फोटो अपने आप ही किसी भी वेबसाइट पर पहुंच सकते हैं। बच्चों की फेसबुक एक्टिविटी पर माता-पिता को समय निकालकर नजर रखना बहुत जरूरी है। आप भी अपने बच्चे के फ्रेंडलिस्ट में जुड़ जाएं। वह ऑनलाइन है या नहीं, इस पर आप आसानी से नजर रख सकते हैं।

सुरक्षा का रखें ख्याल : आईटी एक्सपर्ट्‌स संजय वाधवानी कहते हैं कि फेसबुक पर अनजानी दोस्ती व पोस्ट पर क्लिक करने से पहले थोड़ा ध्यान रखें। फेसबुक एप्लिकेशन को भी इनस्टॉल करने से पहले बचना चाहिए। हर पोस्ट या लिंक को क्लिक करने से पहले ध्यान रखें।

वे कहते हैं कि कभी अपनी पूरी जन्म तारीख को प्रोफाइल में न डालें। बैंकिंग और क्रेडिट कार्ड से जु़ड़े हैकर्स के लिए यह काम की साबित हो सकती है। आप इससे बचने के लिए प्रोफाइल पेज पर जाकर इंफो टैब में क्लिक करें। यहां एडिट इंफर्मेशन टूल की मदद से आप यह तय कर सकते हैं कि लोगों को सिर्फ दिन और महीना दिखे, जन्म का वर्ष नहीं।

वे कहते हैं कि फेसबुक हर किसी को अपने दोस्त या प्लानिंग शेयर न करें। हर किसी से अपना फैमिली एलबम शेयर करने से भी बचें। कई सेलिब्रेटी की दोस्ती की इनवॉइट का जवाब देने से पहले भी सोचें। इन दिनों हर सेलिब्रेटी व नेताओं तक की दर्जनों फर्जी प्रोफाइल फेसबुक से लेकर टि्‍वटर तक पर बनी हैं।


कुछ टूल कर सकते हैं मदद : फेसबुक पर कई ऐसे टूल्स हैं, जिनकी मदद से आप अपनी प्राइवेसी बनाए रख सकते हैं। इससे अपनी पोस्ट, फोटो, कॉमेंट्स, स्टेटस, दूसरों के कॉमेंट्स तक फ्रेंड लिस्ट में मौजूद कुछ लोगों से छिपा सकते हैं, जिन्हें मजबूरी में आपने दोस्त तो बना लिया। इसके लिए प्राइवेसी सेटिंग का ऑप्शन चुन सकते हैं।

यहां ऐसा ऑप्शन भी दिया है, इससे गूगल सर्च को रोका जा सकता है। इसके लिए प्राइवेसी कंट्रोल में जाकर फेसबुक सर्च रिजल्ट में जाकर ऑनली फ्रेंड्स का ऑप्शन क्लिक कर दें। पब्लिक सर्च ऑप्शन को भी डी-सिलेक्ट करना न भूलें। इसकी मदद से आप बेसिक प्राइवेसी कंट्रोल कर सकते हैं। कस्टमाइज सेटिंग्स से सारी जानकारी को भी आप सेंसर कर सकते हैं।

1 टिप्पणी:

Sanjay9411 ने कहा…

bahut hi acchi aur suvudhajanak jankari hai sir ji